• मुख्य सामग्री पर जाएं /
  • स्क्रीन रीडर का उपयोग

प्रेस विज्ञप्ति

पांच देशों के राजनयिकों ने भारत के राष्ट्रपति को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपने परिचय-पत्र सौंपे

राष्ट्रपति भवन : 22.09.2021

भारत के राष्ट्रपति, श्री राम नाथ कोविन्द ने आज (22 सितंबर, 2021) एक वर्चुअल समारोह में आइसलैंड, गाम्बिया गणराज्य, स्पेन, ब्रुनेई दारुस्सलाम और श्रीलंका लोकतांत्रिक गणराज्य के राजदूतों/उच्चायुक्तों से परिचय-पत्र स्वीकार किए। अपने परिचय पत्र प्रस्तुत करने वाले में निम्नलिखित राजनयिक शामिल थे:

1. आइसलैंड के महामहिम राजदूत, श्री गुदनी ब्रैगसन

2. गाम्बिया गणराज्य के महामहिम उच्चायुक्त, श्री मुस्तफा जवारा

3. स्पेन के महामहिम राजदूत, श्री होसे मारिया रिदाओ दोमिंगुएज़,

4. ब्रुनेई दारुस्सलाम के महामहिम उच्चायुक्त, श्री दातो अलैहुद्दीन मोहम्मद ताहा

5. श्रीलंका लोकतांत्रिक समाजवादी गणराज्य के महामहिम उच्चायुक्त, श्री अशोक मिलिंद मोरागोडा

इस अवसर पर राष्ट्रपति ने राजदूतों को उनकी नियुक्ति पर बधाई दी और भारत में उनके सफल कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि आज जिन देशों का प्रतिनिधित्व हो रहा है, उन सभी देशों के साथ भारत के घनिष्ठ संबंध हैं और हमारे बीच शांति एवं समृद्धि की सोच भी एक जैसी है।

राष्ट्रपति कोविन्द ने अपनी बात दोहराते हुए कहा कि भारत सामूहिक स्वास्थ्य और आर्थिक कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए कोविड-19 महामारी का निर्णायक एवं समन्वित ढंग से मुकाबला करने के वैश्विक प्रयासों में आगे-आगे रहा है। उन्होंने आगे कहा कि विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तहत, भारतीयों को अब तक 80 करोड़ से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं।

राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र और अन्य बहुपक्षीय मंचों में भारत की सहभागिता के परिणाम स्वरूप पारस्परिक रूप से लाभप्रद भागीदारियां हुई हैं। विकासशील देशों और सीमित प्रतिनिधित्व वाले देशों के हितों को ध्यान में रखते हुए भारत, एक न्यायसंगत और समतामूलक वैश्विक व्यवस्था की स्थापना के लिए प्रतिबद्ध है।

राजदूतों/उच्चायुक्तों ने अपने-अपने देशों के नेतृत्व की ओर से माननीय राष्ट्रपति को शुभकामनाएं संप्रेषित कीं और भारत के साथ अपने संबंधों को और मजबूत करने की दिशा में किए जा रहे कार्यों को आगे बढ़ाने की अपने नेतृत्व की प्रतिबद्धता दोहराई।

Go to Navigation