• मुख्य सामग्री पर जाएं /
  • स्क्रीन रीडर का उपयोग

प्रेस विज्ञप्ति

भारत के राष्ट्रपति सिक्किम विश्वविद्यालय के 5वें दीक्षांत समारोह में शोभायमान हुए

राष्ट्रपति भवन : 03.11.2019

भारत के राष्ट्रपति, श्री राम नाथ कोविन्द आज (3 नवंबर, 2019) गंगटोक में सिक्किम विश्वविद्यालय के 5वें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए और सभा को संबोधित किया।

इस अवसर पर, राष्ट्रपति यह जानकर प्रसन्न हुए कि लगभग 12 वर्ष के अल्प समय में ही, सिक्किम विश्वविद्यालय ने पूर्वी हिमालय के लोगों की बौद्धिक और सांस्कृतिक समझ को विकसित करने के लिए गंभीर प्रयास किए हैं। उन्हें यह जानकर भी खुशी हुई किस्‍थानीय भाषाओं के विकास के लिए विश्वविद्यालय में लिंबू, लेप्चा और भूटिया भाषा एवं साहित्य का अध्ययन-अध्यापन किया जा रहा है और और लुप्‍त हो रही भाषाओं के संरक्षण के लिए ‘Centre for Endangered Languages’ की स्‍थापना भी की गई है।उन्होंने कहा कि सिक्‍किम की विशेष पहचान को बनाए रखने के लिए, यहां की सांस्‍कृतिक धरोहर का संरक्षण और संवर्धन करना, एक दूरदर्शी पहल सिद्ध होगी।

राष्ट्रपति ने कहा कि सिक्‍किम राज्‍य में यह संभावना प्रबल दिखाई देती है कि वह, देश के पहाड़ी राज्‍यों के बीच विकास का मॉडल बन सके। सिक्‍किम के प्रबुद्ध नागरिकों के बल पर ही मानव विकास सूचकांक में सिक्‍किम की गणना, भारत के 10 अग्रणी राज्‍यों में की जाती है। शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, साफ-सफाई और वन्‍य जीवन के संरक्षण में सिक्‍किम ने आदर्श उदाहरण प्रस्‍तुत किया है।सिक्‍किम ने जैविक खेती के माध्‍यम से पूरे देश के सामने एक उदाहरण प्रस्‍तुत किया है। प्रदूषण से मुक्‍त, स्‍वच्‍छ राज्‍य बनने की दिशा में मजबूत क़दम उठाए हैं।उन्होंने कहा कि हमारा देश जैविक खेती और प्रदूषण-मुक्‍ति का अग्रदूत बने, यही संकल्‍प हम सभी का होना चाहिए।

Go to Navigation