• Skip to Main Content /
  • Screen Reader Access

अभिभाषण

आंध्र प्रदेश सरकार की विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण के अवसर पर भारत के राष्ट्रपति, श्री राम नाथ कोविन्द का अभिभाषण

वेलागपूड़ी, आंध्र प्रदेश : 27.12.2017
  • डाउनलोड : भाषण नई विंडो में खुलती है पीडीएफ फाइल. पीडीएफ फाइल को खोलने के लिए कैसे पता करने के लिए साइट के तल पर स्थित सहायता अनुभाग में देखें. ( 0.55 एमबी )
आंध्र प्रदेश सरकार की विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण के अवसर पर भारत के राष्ट्रप

1. मुझे राज्य सरकार की चार परस्पर जुड़ी हुई परन्तु विभिन्न परियोजनाओं को आंध्र प्रदेश के लोगों को समर्पित करने के लिए यहां आकर प्रसन्नता हुई है। ये हमारे देश की अग्रणी परियोजनाएं हैं। इनका लक्ष्य शासन और नागरिकों के जीवन के सुधार के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाना है। ये चार परियोजनाएं हैं:

I. आंध्र प्रदेश फाइबरग्रिड

II. आंध्र प्रदेश निगरानी परियोजना

III. ड्रोन परियोजना;और

IV. फ्री स्पेस ऑप्टीकल कम्यूनिकेशन प्रणाली

2. मैं, इन महत्वाकांक्षी परियोजनाओं के नियोजन और कार्यान्वयन दोनों के लिए मुख्य मंत्री,श्री एन. चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व वाली राज्य सरकार को बधाई देता हूं। राज्य प्रौद्योगिकी अपनाने में नवान्वेषक बनने की सुयोग्य प्रतिष्ठा पर खरा उतरा है।

3. आंध्र प्रदेश फाइबरग्रिड का लक्ष्य राज्य के घरों और व्यवसायों को उच्च गति से आंकड़ा संयोजन प्रदान करने का लक्ष्य है। यह मौजूदा बिजली के खंभों का फायदा उठाते हुए ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के लिए हवाई मार्ग प्रयोग करेगा। इससे भूमिगत फाइबर बिछाने की जरूरत समाप्त हो जाएगी जो खर्चीला और परेशानी बड़ा कार्य है।

4. मुझे बताया गया है कि आंध्र प्रदेश राज्य फाइबर नेट लिमिटेड ने, जिसे इस परियोजना का नोडल एजेंसी बनाया है, 2018तक घरों को15से20एमबीपीएस और व्यावसायिक संस्थाओं को1जीबीपीएस की ब्रॉडबैंड गति का वादा किया है। मुझे यह भी बताया गया है कि लगभग24,000किलोमीटर की हवाई ऑप्टिकल फाइबर तार पहले ही13जिलों में लगा दी गई है। घरों को केवल149रुपये मासिक में इंटरनेट,टेलीविजन चैनल,टेलिफोन और संबंधित सेवाएं प्रदान हो जाएंगी।

5. यह अत्यंत प्रभावशाली है और इससे डिजीटल इंडिया की व्यापक रूपरेखा के दायरे में डिजीटल आंध्र प्रदेश के सपनों को साकार किया जा सकेगा। वास्तव में,भारत सरकार की भारत नेट परियोजना भी प्रत्येक ग्राम पंचायत को ब्रॉडबैंड से जोड़ रही है।

6. एक दशक पहले से ही डाटा और इंटरनेट पहुंच जैसी खर्चीली सुविधा को आज पानी,बिजली और खाना पकाने की गैस जैसी बुनियादी जरूरत के रूप में देखा जाने लगा है। हम एक प्लग-एण्ड-प्ले प्रणाली की ओर बढ़ रहे हैं जिसमें ऐसे घर और कार्यालय होंगे जो पहले से ही ब्रॉडबैंड संयोजन वाले होंगे। आंध्र प्रदेश इस संभावना को साकार करने का प्रयास कर रहा है। वास्तव मे इसने भविष्य को पहचान लिया है।

7. इंटरनेट तक पहुंच के अनेक लाभ हैं। आम नागरिक हमारी कल्पना से परे आंकड़ों तक पहुंच से लाभ प्राप्त कर रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में किसान और छोटे उत्पादक सुदूर स्थानों के खरीददारों से संपर्क करने तथा अपने उत्पादों की असली कीमत पता करने के लिए इंटरनेट संयोजन का प्रयोग करते हैं। इसी प्रकार,डिजिटल कक्षाओं और दूर-चिकित्सा से हमारे लोग पुरानी बाधाओं को पार कर सकते हैं। वे ज्ञान का दायरा बढ़ा सकते हैं तथा दूर-दराज के क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं और निदान उपलब्ध करवा सकते हैं। इसीलिए डाटा संयोजन मानव सशक्तीकरण और सामाजिक बदलाव का माध्यम बन गया है।

8. मैं आंध्र प्रदेश सरकार की क्लाउड आधारित वर्चुअल कक्षा प्रणाली की सराहना करता हूं। इससे शहरी बच्चों को मिलने वाली भौतिक सुविधाओं से वंचित ग्रामीण इलाकों के प्रतिभावान बच्चों और समृद्ध बच्चों के बीच बराबरी आएगी।

देवियो और सज्जनो,

9. मुझे यह जानकर खुशी हुई है कि आंध्र प्रदेश सरकार शासन की तत्काल सूचना प्रदान करने के लिए ड्रोन प्रयोग करने की योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि इसके सुरक्षा और पुलिस व्यवस्था,खनन,शहरी विकास,कृषि उत्पादकता वृद्धि,वन क्षेत्र के मापन,प्राकृतिक और अन्य आपदाओं की पहचान जैसे अनेक लाभ होंगे। यह अन्य राज्यों के लिए भी अनुकरणीय है।

10. प्रौद्योगिकी को सरकारी दायित्वों के साथ जोड़ना प्रशंसनीय है। हम एक ऐसी स्थिति की ओर बढ़ रहे हैं जहां प्रौद्योगिकी सरकार के लिए वैकल्पिक ही नहीं है बल्कि यह कमोबेश आधुनिक शासन की ओर प्रेरित करती है। चौबीस घंटे जुड़े हुए विश्व में सरकारें और प्रशासन प्रतिक्रियावादी नहीं हो सकते;उन्हें ऑनलाइन,समयबद्ध और तत्पर रहना होगा। प्रौद्योगिकी ऐसा करने में सहायक है।

11. मैं आंध्र प्रदेश के रियल टाइम गवर्नेंस सेंटर के बारे में जानने के लिए उत्सुक हूं,जिस पर मैं शीघ्र एक विवरण प्राप्त करूंगा। मुझे बताया गया है कि आंध्र प्रदेश सरकार का केंद्र एशिया में सबसे बड़ा है तथा वास्तव में,नागरिकों को अनेक सेवाएं प्रदान करने वाला राज्य का साइबर-स्पेस सचिवालय है।

12. यह सब केवल रूचि बढ़ाने वाला है। जब राज्य की राजधानी अमरावती पूरी तरह बन जाएगी तो इसके प्रौद्योगिक रूप सबसे अनुकूल शहर बनने की उम्मीद है। यदि यह ऐसा कर सका तो इसके भारत की अग्रणी टेक्नो-नगरी बनने की आशा है। जिस परियोजना का आज में उद्घाटन कर रहा हूं वह अमरावती और नए आंध्र प्रदेश के निर्माण का प्रतिनिधित्व करती है। आंध्र की जनता और भारतवासियों को इसकी प्रतीक्षा है। कुल मिलाकर,ये मुख्यमंत्री,श्री चंद्रबाबू नायडू के उत्कृष्टता के लिए प्रयास हैं।

13. मैं उन्हें और उनकी सरकार को तथा आंध्र प्रदेश की जनता को उज्ज्वल और सुनहरे भविष्य की शुभकामनाएं देता हूं। मैं आप सभी के लिए एक सुखमय और समृद्ध नववर्ष की कामना करता हूं।

धन्यवाद

जय हिन्द !

Go to Navigation